मेरा रंग दे बसंती चोला (देश भक्ति गीत)

फांसी पर हंस कर झूला वो
मस्तानों का टोला,
मुंह पर बस यह बोल थे
मेरा रंग दे बसंती चोला,

बचपन से दिल में पलती रही थीं
देशभक्ति की बातें
देश के नाम ही दिन थे उसके
देश के नाम ही रातें
रगों में लहू न बहता था
बहता था, देशभक्ति का शोला
मुंह पर बस यह बोल थे
मेरा रंग दे बसंती चोला,

देश की आज़ादी की खातिर
जद्दो-जहद थी जारी
अंग्रेजों ने कर दी थी
सन 1919 में गद्दारी
जलियांवाला बाग़ देखकर
था खून फिर उनका खौला
मुंह पर बस यह बोल थे
मेरा रंग दे बसंती चोला,

सरेआम ही अंग्रेजों को
उसने फिर ललकारा था
अंग्रेजी अफसर सांडर्स को
बीच सड़क पर मारा था
इंकलाब का नारा तब
सरे हिंदुस्तान ने बोला
मुंह पर बस यह बोल थे
मेरा रंग दे बसंती चोला,

मगर खुले न कान तो
बम असेंबली में फेंका था
भारत माता के पूतों का
जलवा अंग्रेजों ने देखा था
नारे लगता खड़ा रहा वह
न अपने स्थान से डोला
मुंह पर बस यह बोल थे
मेरा रंग दे बसंती चोला,

आवाज सुनी न फिर भी क्योंकि
वो सर्कार तो बहरी थी
गवाह भी उनके, वकील भी उनके
उनकी ही तो कचहरी थी
फांसी के आदेश ने जन-जन में
क्रांति का रस था घोला
मुंह पर बस यह बोल थे
मेरा रंग दे बसंती चोला,

फांसी पर हंस कर झूला वो
मस्तानों का टोला,
मुंह पर बस यह बोल थे
मेरा रंग दे बसंती चोला।

Mera Rang De Basanti Chola

Mera rang de basanti chola
Ho mera rang de basanti chola

Jisne Pahan Kar Shiwaji Ne
Maa Ka Bandhan Khola
Ho Maa Ka Bandhan Khola
Mera Rang De Basanti Chola,

Ye Chola Teepu Ne Pahna
Has Kar Di Kurbani
O Has Kar Di Kurbani
Ise Pahan Jhasi Ki Rani
Khub Ladi Mardani
Pahan Ise Mewad Ka Raja
Jai Jai Bharat Bola
Mara Randa Basanti Chola,

Inkalab Jindabad Inkalab Jindabad
Isi Rang Me Ranga Gaya Hai
Sara Hindustan Sara Hindustan
Rang Basanti Aa Mai Batau
Kya Hai Teri Shan
Ho Kya Hai Teri Shan,

Dekh Ke Jhashi Ka Takta Bhi
Dil Na Hamara Dola
Mera Rang De Basanti Chola
Inkalab Jindabad Inkalab Jindabad
Inkalab Jindabad,

Maut Se Pahle Yahi Dua Hai
Ho Bharat Aazad
Ho Bharat Ke Veer
Jo Aaye Hamari Yad
Maut Ko Gale Lagake Gana
Mera Rang De Basanti Chola
Inkalab Jindabad Inkalab Jindabad.

Leave a Comment