जीवन अच्छा लगता है

जब तुमने जन्म लिया
हँसमुख लोगों और दर्ज़ियों और
बुंदेलों स्त्रियों और बोली की
अपनापे भरी आवाज़ों में
जब तुमने जन्म लिया
मैं तो वहाँ नहीं था
और मुझे बिल्कुल पता तक नहीं था
कि मैं वहाँ नहीं हूँ
मैं इस तरह क्या कुछ भूला रहा
बाद में कुछ-कुछ के सामने
अपने भूले रहने की याद में
जीवन अच्छा लगता है।

Leave a Comment