कर चले हम फ़िदा जानो तन साथियो

कर चले हम फ़िदा जानो-तन साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो
साँस थमती गई, नब्ज़ जमती गई
फिर भी बढ़ते क़दम को न रुकने दिया
कट गए सर हमारे तो कुछ ग़म नहीं
सर हिमालय का हमने न झुकने दिया,

मरते-मरते रहा बाँकपन साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो,

ज़िंदा रहने के मौसम बहुत हैं मगर
जान देने के रुत रोज़ आती नहीं
हस्न और इश्क दोनों को रुस्वा करे
वह जवानी जो खूँ में नहाती नहीं,

आज धरती बनी है दुलहन साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो,

राह कुर्बानियों की न वीरान हो
तुम सजाते ही रहना नए काफ़िले
फतह का जश्न इस जश्न‍ के बाद है
ज़िंदगी मौत से मिल रही है गले,

बांध लो अपने सर से कफ़न साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो,

खींच दो अपने खूँ से ज़मी पर लकीर
इस तरफ आने पाए न रावण कोई
तोड़ दो हाथ अगर हाथ उठने लगे
छू न पाए सीता का दामन कोई
राम भी तुम, तुम्हीं लक्ष्मण साथियो,

अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो।

Kar Chale Hum Fida Jano Tan Sathiyon

kar chale ham fida jaano-tan saathiyo
ab tumhaare havaale vatan saathiyo
saans thamatee gaee, nabz jamatee gaee
phir bhee badhate qadam ko na rukane diya
kat gae sar hamaare to kuchh gam nahin
sar himaalay ka hamane na jhukane diya,

marate-marate raha baankapan saathiyo
ab tumhaare havaale vatan saathiyo,

zinda rahane ke mausam bahut hain magar
jaan dene ke rut roz aatee nahin
hasn aur ishk donon ko rusva kare
vah javaanee jo khoon mein nahaatee nahin,

aaj dharatee banee hai dulahan saathiyo
ab tumhaare havaale vatan saathiyo,

raah kurbaaniyon kee na veeraan ho
tum sajaate hee rahana nae kaafile
phatah ka jashn is jashn‍ ke baad hai
zindagee maut se mil rahee hai gale,

baandh lo apane sar se kafan saathiyo
ab tumhaare havaale vatan saathiyo,

kheench do apane khoon se zamee par lakeer
is taraph aane pae na raavan koee
tod do haath agar haath uthane lage
chhoo na pae seeta ka daaman koee
raam bhee tum, tumheen lakshman saathiyo,

ab tumhaare havaale vatan saathiyo.

Leave a Comment