एहसास का क़िस्सा है सुनाना तो पड़ेगा

ehsas ka qissa hai sunana to padega - एहसास का क़िस्सा है सुनाना तो पड़ेगा

एहसास का क़िस्सा है सुनाना तो पड़ेगा हर ज़ख़्म को अब फूल बनाना तो पड़ेगा, मुमकिन है मिरे शे’र में हर राज़ हो लेकिन इक राज़ पस-ए-शे’र छुपाना तो पड़ेगा, आँखों के जज़ीरों पे हैं नीलम की क़तारें ख़्वाबों का जनाज़ा है उठाना तो पड़ेगा, चेहरे पे कई चेहरे लिए फिरती है दुनिया अब आइना … Read more

दर्द को ज़ब्त की सरहद से गुज़र जाने दो

dard ko zabt ki sarhad se guzar jaane do - दर्द को ज़ब्त की सरहद से गुज़र जाने दो

दर्द को ज़ब्त की सरहद से गुज़र जाने दो अब समेटो न हमें और बिखर जाने दो, हम से होगा न कभी अपनी ख़ुदी का सौदा हम अगर दिल से उतरते हैं उतर जाने दो, तुम तअ’य्युन न करो अपनी हदों का हरगिज़ जब भी जैसे भी जहाँ जाए नज़र जाने दो, इतना काफ़ी है … Read more