दिल गया दिल का निशाँ बाक़ी रहा

Dil Gaya Dil Ka Nishan Baqi Raha - दिल गया दिल का निशाँ बाक़ी रहा

दिल गया दिल का निशाँ बाक़ी रहा दिल की जा दर्द-ए-निहाँ बाक़ी रहा, कौन ज़ेर-ए-आसमाँ बाक़ी रहा नेक-नामों का निशाँ बाक़ी रहा, हो लिए दुनिया के पूरे कारोबार और इक ख़्वाब-ए-गिराँ बाक़ी रहा, रफ़्ता रफ़्ता चल बसे दिल के मकीं अब फ़क़त ख़ाली मकाँ बाक़ी रहा, चल दिए सब छोड़ कर अहल-ए-जहाँ और रहने को … Read more

वो झूटा इश्क़ है जिस में फ़ुग़ाँ हो

Wo Jhuta Ishq Hai Jis Mein Fughan Ho - वो झूटा इश्क़ है जिस में फ़ुग़ाँ हो

वो झूटा इश्क़ है जिस में फ़ुग़ाँ हो वो कच्ची आग है जिस में धुआँ हो, अदू तुम से तुम उन से बद-गुमाँ हो तुम्हारे वो तुम उन के पासबाँ हो, भला तुम और मुझ पर मेहरबाँ हो इनायत ये नसीब-ए-दुश्मनाँ हो, मिरा हाल और फिर मेरा बयाँ हो अजब क्या गर अदू भी हम-ज़बाँ … Read more