मिरा अकेला ख़ुदा याद आ रहा है मुझे

mera akela khuda yaad aa raha hai mujhe - मिरा अकेला ख़ुदा याद आ रहा है मुझे

मिरा अकेला ख़ुदा याद आ रहा है मुझे ये सोचता हुआ गिरजा बुला रहा है मुझे, मुझे ख़बर है कि इक मुश्त-ए-ख़ाक हूँ फिर भी तू क्या समझ के हवा में उड़ा रहा है मुझे, ये क्या तिलिस्म है क्यूँ रात भर सिसकता हूँ वो कौन है जो दियों में जला रहा है मुझे, उसी … Read more

वो लोग जो ज़िंदा हैं वो मर जाएँगे इक दिन

wo log jo zinda hain wo mar jaenge ek din - वो लोग जो ज़िंदा हैं वो मर जाएँगे इक दिन

वो लोग जो ज़िंदा हैं वो मर जाएँगे इक दिन इक रात के राही हैं गुज़र जाएँगे इक दिन, यूँ दिल में उठी लहर यूँ आँखों में भरे रंग जैसे मिरे हालात सँवर जाएँगे इक दिन, दिल आज भी जलता है उसी तेज़ हवा में ऐ तेज़ हवा देख बिखर जाएँगे इक दिन, यूँ है … Read more