जीवन अच्छा लगता है

जीवन अच्छा लगता है - jeevan achcha lagta hai

जब तुमने जन्म लिया हँसमुख लोगों और दर्ज़ियों और बुंदेलों स्त्रियों और बोली की अपनापे भरी आवाज़ों में जब तुमने जन्म लिया मैं तो वहाँ नहीं था और मुझे बिल्कुल पता तक नहीं था कि मैं वहाँ नहीं हूँ मैं इस तरह क्या कुछ भूला रहा बाद में कुछ-कुछ के सामने अपने भूले रहने की … Read more

कभी आधा कभी पूरा

kabhi aadha kabhi poora - कभी आधा कभी पूरा

छतों की दूरियाँ लाँघता मैं छतों से गिरा खिड़कियों से झाँकता हुआ गलियों में गिरा कभी आधा कभी पूरा, मैं निकाला गया जिनमें झाड़ू दी लीपा-पोता उन घरों से धक्के देकर पार्कों रेलवे स्टेशनों से दोस्तों के एकांत से जिन्हें गोद में लिए मैंने गुज़ार दी रातें उन बच्चों के पाँव से काँटे की तरह … Read more