कोई अनीस कोई आश्ना नहीं रखते

koi anis koi aashna nahin rakhte - कोई अनीस कोई आश्ना नहीं रखते

कोई अनीस कोई आश्ना नहीं रखते किसी की आस बग़ैर अज़ ख़ुदा नहीं रखते, किसी को क्या हो दिलों की शिकस्तगी की ख़बर कि टूटने में ये शीशे सदा नहीं रखते, फ़क़ीर दोस्त जो हो हम को सरफ़राज़ करे कुछ और फ़र्श ब-जुज़ बोरिया नहीं रखते, मुसाफ़िरो शब-ए-अव्वल बहुत है तीरा ओ तार चराग़-ए-क़ब्र अभी … Read more

मेरा राज़-ए-दिल आश्कारा नहीं

mera raaz-e-dil aashkara nahin - मेरा राज़-ए-दिल आश्कारा नहीं

मेरा राज़-ए-दिल आश्कारा नहीं वो दरिया हूँ जिस का किनारा नहीं, वो गुल हूँ जुदा सब से है जिस का रंग वो बू हूँ कि जो आश्कारा नहीं, वो पानी हूँ शीरीं नहीं जिस में शोर वो आतिश हूँ जिस में शरारा नहीं, बहुत ज़ाल-ए-दुनिया ने दीं बाज़ियाँ मैं वो नौजवाँ हूँ जो हारा नहीं, … Read more