दिल ने एक एक दुख सहा तन्हा

Dil Ne Ek Ek Dukh Saha Tanha - दिल ने एक एक दुख सहा तन्हा

दिल ने एक एक दुख सहा तन्हा अंजुमन अंजुमन रहा तन्हा, ढलते सायों में तेरे कूचे से कोई गुज़रा है बार-हा तन्हा, तेरी आहट क़दम क़दम और मैं इस मअय्यत में भी रहा तन्हा, कहना यादों के बर्फ़-ज़ारों से एक आँसू बहा बहा तन्हा, डूबते साहिलों के मोड़ पे दिल इक खंडर सा रहा सहा … Read more

दिल से हर गुज़री बात गुज़री है

Dil Se Har Guzri Baat Guzri Hai - दिल से हर गुज़री बात गुज़री है

दिल से हर गुज़री बात गुज़री है किस क़यामत की रात गुज़री है, चाँदनी नीम-वा दरीचा सुकूत आँखों आँखों में रात गुज़री है, हाए वो लोग ख़ूबसूरत लोग जिन की धुन में हयात गुज़री है, तमतमाता है चेहरा-ए-अय्याम दिल पे क्या वारदात गुज़री है, किसी भटके हुए ख़याल की मौज कितनी यादों के सात गुज़री … Read more