मेरा सजल मुख देख लेते

मेरा सजल मुख देख लेते - Mera Sajal Mukh Dekh Lete

मेरा सजल मुख देख लेते यह करुण मुख देख लेता, सेतु शूलों का बना बाँधा विरह-वारीश का जल फूल की पलकें बनाकर प्यालियाँ बाँटा हलाहल, दुखमय सुख सुख भरा दुःख कौन लेता पूछ, जो तुम ज्वाल-जल का देश देते, नयन की नीलम-तुला पर मोतियों से प्यार तोला कर रहा व्यापार कब से मृत्यु से यह … Read more

मधुर मधुर मेरे दीपक जल

madhur madhur mere deepak jal

मधुर-मधुर मेरे दीपक जल युग-युग प्रतिदिन प्रतिक्षण प्रतिपल प्रियतम का पथ आलोकित कर, सौरभ फैला विपुल धूप बन मृदुल मोम-सा घुल रे, मृदु-तन दे प्रकाश का सिन्धु अपरिमित तेरे जीवन का अणु गल-गल पुलक-पुलक मेरे दीपक जल, तारे शीतल कोमल नूतन माँग रहे तुझसे ज्वाला कण विश्व-शलभ सिर धुन कहता मैं हाय, न जल पाया … Read more