मौत ही एक दवा है और वो जारी है

Maut Hi Ek Dawa Hai Aur Wo Jari Hai - मौत ही एक दवा है और वो जारी है

मौत ही एक दवा है और वो जारी है हम को ज़िंदा रहने की बीमारी है, सिर्फ़ उदास रहोगे गर तुम सच्चे हो बाक़ी हर जज़्बा-ए-मश्क़ फ़नकारी है, अंदर अंदर दर-ब-दरी ही दर-ब-दरी बाहर बाहर ख़ूब दर-ओ-दीवारी है, जिस्म बहुत भारी हैं शहर के लोगों के जिस्मों में दिल हैं तो और भी भारी हैं, … Read more

ये दिल दुनिया से बाज़ आने लगा है

ये दिल दुनिया से बाज़ आने लगा है - Ye Dil Duniya Se Baz Aane Laga Hai

ये दिल दुनिया से बाज़ आने लगा है कि अब सीने में राज़ आने लगा है, अज़ाँ होने लगी मेहराब-ए-जाँ में मिरा वक़्त-ए-नमाज़ आने लगा है, यूँ ही इक ज़ख़्म पर दे दी थी इस्लाह सो अब ले कर बयाज़ आने लगा है, बहुत से ज़ख़्म थे अब सिर्फ़ इक ज़ख़्म लहू में इर्तिकाज़ आने … Read more