गले मुझ को लगा लो ऐ मिरे दिलदार होली में

gale mujh ko laga lo ai mere dildar holi mein - गले मुझ को लगा लो ऐ मिरे दिलदार होली में

गले मुझ को लगा लो ऐ मिरे दिलदार होली में बुझे दिल की लगी भी तो ऐ मेरे यार होली में, नहीं ये है गुलाल-ए-सुर्ख़ उड़ता हर जगह प्यारे ये आशिक़ की है उमड़ी आह-ए-आतिश-बार होली में, गुलाबी गाल पर कुछ रंग मुझ को भी जमाने दो मनाने दो मुझे भी जान-ए-मन त्यौहार होली में, … Read more

उठा के नाज़ से दामन भला किधर को चले

utha ke naz se daman bhala kidhar ko chale

उठा के नाज़ से दामन भला किधर को चले इधर तो देखिए बहर-ए-ख़ुदा किधर को चले, मिरी निगाहों में दोनों जहाँ हुए तारीक ये आप खोल के ज़ुल्फ़-ए-दोता किधर को चले, अभी तो आए हो जल्दी कहाँ है जाने की उठो न पहलू से ठहरो ज़रा किधर को चले, ख़फ़ा हो किस पे भंवें क्यूँ … Read more