बन गए दिल के फ़साने क्या क्या

ban gae dil ke fasane kya kya - बन गए दिल के फ़साने क्या क्या

बन गए दिल के फ़साने क्या क्या खुल गए राज़ न जाने क्या क्या, कौन था मेरे अलावा उस का उस ने ढूँडे थे ठिकाने क्या क्या, रहमत-ए-इश्क़ ने बख़्शे मुझ को उस की यादों के ख़ज़ाने क्या क्या, आज रह रह के मुझे याद आए उस के अंदाज़ पुराने क्या क्या, रक़्स करती हुई … Read more

ज़िंदगी अपना सफ़र तय तो करेगी लेकिन

zindagi apna safar tai to karegi lekin - ज़िंदगी अपना सफ़र तय तो करेगी लेकिन

ज़िंदगी अपना सफ़र तय तो करेगी लेकिन हम-सफ़र आप जो होते तो मज़ा और ही था काबा ओ दैर में अब ढूँड रही है दुनिया जो दिल ओ जान में बस्ता था ख़ुदा और ही था, अब ये आलम है कि दौलत का नशा तारी है जो कभी इश्क़ ने बख़्शा था नशा और ही … Read more