ध्यान में आ कर बैठ गए हो तुम भी नाँ

dhyan mein aa kar baith gae ho tum bhi nan - ध्यान में आ कर बैठ गए हो तुम भी नाँ

ध्यान में आ कर बैठ गए हो तुम भी नाँ मुझे मुसलसल देख रहे हो तुम भी नाँ, दे जाते हो मुझ को कितने रंग नए जैसे पहली बार मिले हो तुम भी नाँ, हर मंज़र में अब हम दोनों होते हैं मुझ में ऐसे आन बसे हो तुम भी नाँ, इश्क़ ने यूँ दोनों … Read more

वो मसीहा न बना हम ने भी ख़्वाहिश नहीं की

wo masiha na bana humne bhi khwahish nahin ki - वो मसीहा न बना हम ने भी ख़्वाहिश नहीं की

वो मसीहा न बना हम ने भी ख़्वाहिश नहीं की अपनी शर्तों पे जिए उस से गुज़ारिश नहीं की, उस ने इक रोज़ किया हम से अचानक वो सवाल धड़कनें थम सी गईं वक़्त ने जुम्बिश नहीं की, किस लिए बुझने लगे अव्वल-ए-शब सारे चराग़ आँधियों ने भी अगरचे कोई साज़िश नहीं की, अब के … Read more