हंगामा है क्यूँ बरपा थोड़ी सी जो पी ली है

hangama hai kyun barpa thodi si jo pi li hai - हंगामा है क्यूँ बरपा थोड़ी सी जो पी ली है

हंगामा है क्यूँ बरपा थोड़ी सी जो पी ली है डाका तो नहीं मारा चोरी तो नहीं की है, ना-तजरबा-कारी से वाइ’ज़ की ये हैं बातें इस रंग को क्या जाने पूछो तो कभी पी है, उस मय से नहीं मतलब दिल जिस से है बेगाना मक़्सूद है उस मय से दिल ही में जो … Read more

दुनिया में हूँ दुनिया का तलबगार नहीं हूँ

duniya mein hun duniya ka talabgar nahin hun

दुनिया में हूँ दुनिया का तलबगार नहीं हूँ बाज़ार से गुज़रा हूँ ख़रीदार नहीं हूँ ज़िंदा हूँ मगर ज़ीस्त की लज़्ज़त नहीं बाक़ी हर-चंद कि हूँ होश में हुश्यार नहीं हूँ इस ख़ाना-ए-हस्ती से गुज़र जाऊँगा बे-लौस साया हूँ फ़क़त नक़्श-ब-दीवार नहीं हूँ अफ़्सुर्दा हूँ इबरत से दवा की नहीं हाजत ग़म का मुझे ये … Read more